Breaking News

मुफ़्ती इरफ़ान को पहाड़गंज व मुफ़्ती शुऐब को गोला बाज़ार का रजिस्टर्ड क़ाज़ी ग़ौसे आज़म फाउंडेशन द्वारा नियुक्त किया गया

देश के बदलते हुए हालात के मद्दे नज़र पुरे देश में ग़ौसे आज़म फाउंडेशन ने रजिस्टर्ड क़ाज़ी नियुक्त करना शुरू कर दिया है ताकि भविष्य में क़ौमे मुस्लिम को फ़ायदा हो और रजिस्टर्ड क़ाज़ियों का सरकार व प्रशासन में अपना एक वक़ार हो। निकाह पढ़ाने के लिए रजिस्टर्ड क़ाज़ी आक़िल, बालिग़, सुन्नी सहीहुल अ़क़ीदा इमाम, आलिम, हाफ़िज़, क़ारी, मौलाना, मुफ़्ती वग़ैरा को ही नियुक्त किया जाता है

मौलाना सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी

जयपुर, गोरखपुर

सूरज पोल स्थित पहाड़गंज, जयपुर के रहने वाले हज़रत मौलाना मुफ़्ती मोहम्मद इरफ़ान मरकज़ी साहब और गोला बाज़ार, गोरखपुर के रहने वाले हज़रत मौलाना मुफ़्ती मोहम्मद शुऐब रज़ा निज़ामी फ़ैज़ी साहब ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के प्रधान कार्यालय झोटवाड़ा, जयपुर में रजिस्टर्ड क़ाज़ी बनाने के लिए अपने सारे दस्तावेज़ के साथ उपस्थित हूए। दोनों मुफ़्तियों के सारे दस्तावेज़ देखने के बाद प्रधान कार्यालय में जमा कर लिया गया और दोनों की दिली ख़्वाहिशों पर दोनों को रजिस्टर्ड क़ाज़ी का नियुक्त पत्र जारी कर दिया गया। हज़रत मौलाना मुफ़्ती मोहम्मद इरफ़ान मरकज़ी साहब को पहाड़गंज, जयपुर और हज़रत मौलाना मुफ़्ती मोहम्मद शुऐब रज़ा निज़ामी फ़ैज़ी साहब को नगर पंचायत गोला बाज़ार, गोरखपुर का रजिस्टर्ड क़ाज़ी नियुक्त कर दिया गया।

हज़रत मौलाना मुफ़्ती मोहम्मद इरफ़ान मरकज़ी साहब ने ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के उद्देश्यों को पढ़ने के बाद कहा कि फाउंडेशन के सभी उद्देश्य एक से बढ़कर एक हैं जिसमें से देश में रजिस्टर्ड क़ाज़ी और रजिस्टर्ड मुफ़्ती नियुक्त करना बहुत ही शानदार उद्देश्य है। इससे क़ौम को बहुत फ़ायदा मिलेगा। हज़रत मौलाना मुफ़्ती मोहम्मद शुऐब रज़ा निज़ामी फ़ैज़ी साहब ने भी फाउंडेशन के उद्देश्यों को दिल से सराहा और कहा कि फाउंडेशन के उद्देश्य बहुत ही अनोखे और निराले हैं। इस तरह के उद्देश्य दुसरी संस्थाओं में देखने को नहीं मिलते हैं।

ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी ने कहा कि देश के बदलते हुए हालात के मद्दे नज़र पुरे देश में ग़ौसे आज़म फाउंडेशन ने रजिस्टर्ड क़ाज़ी नियुक्त करना शुरू कर दिया है ताकि भविष्य में क़ौमे मुस्लिम को फ़ायदा हो और रजिस्टर्ड क़ाज़ियों का सरकार व प्रशासन में अपना एक वक़ार हो। निकाह पढ़ाने के लिए रजिस्टर्ड क़ाज़ी आक़िल, बालिग़, सुन्नी सहीहुल अ़क़ीदा इमाम, आलिम, हाफ़िज़, क़ारी, मौलाना, मुफ़्ती वग़ैरा को ही नियुक्त किया जाता है।

इस अवसर पर ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के पश्चिम बंगाल के प्रदेश अध्यक्ष, डॉक्टर एम गोस्वामी, फाउंडेशन के क़ाज़ी अब्दुल हमीद नूरी अज़हरी, क़ाज़ी अकरम रज़ा अज़हरी, क़ाज़ी अंसार रज़ा अशरफ़ी, क़ाज़ी अमानुरर्हमान रज़वी, क़ाज़ी उसमान रज़ा, क़ाज़ी मोहम्मद अयाज़ रज़ा, क़ाज़ी मुंतज़िम रज़ा, क़ाज़ी रिफ़ाक़त हुसैन, फाउंडेशन के डायरेक्टर मोहम्मद ख़ालिद सैफुल्लाह, जयपुर शहर अध्यक्ष सुलेमान अली सुलेमानी, पानी पेच अध्यक्ष अब्दुल रफ़ीक़, विजय नगर अध्यक्ष मोहम्मद इम्तियाज़ रज़ा, राष्ट्रीय महासचिव मोहम्मद ओसामा सैफुल्लाह, चीफ़ ट्रस्टी सबीहा सैफुल्लाह, महिला प्रकोष्ठ अध्यक्ष हिना कौसर, फाउंडेशन के गोरखपुर के अध्यक्ष समीर अली आदि सदस्यों ने दोनों रजिस्टर्ड क़ाज़ियों को मुबारकबाद पेश किया।

Check Also

सभी समस्याओं का समाधान यहां हैः मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी

*सभी समस्याओं का समाधान यहां हैः मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी* *अपने परिवार, रिश्तेदार, दोस्त …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *