Breaking News

ग़ौसे आज़म फाउंडेशन ने पैग़म्बर का अपमान करने वाले नेता सत्यरंजन बोड़ा को गिरफ़्तार करने की किया मांग

पैग़म्बर हज़रत मोहम्मद सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम का अपमान करने वालों को किसी भी क़ीमत में न तो बख़्शा जाएगा और न ही चैन से सोने दिया जाएगाः मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी

प्रेस नोट

जयपुर। पुलिस उपायुक्त उत्तर (Deputy Commissioner of Police North) माननीय पारिस देशमुख जी से ग़ौसे आज़म फाउंडेशन का प्रतिनिधि मंडल मिला। पैग़म्बर का अपमान करने वाले, असम के हिन्दू नेता, सत्यरंजन बोड़ा पर एफआईआर दर्ज करने और मुलज़िम को गिरफ्तार कर कड़ी क़ानूनी कार्यवाही करने की मांग किया। डीसीपी माननीय पारिस देशमुख जी ने ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के प्रतिनिधि मंडल को कार्रवाई करने का आश्वासन दिया।ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी ने कहा कि असम के हिन्दू नेता सत्यरंजन बोड़ा पर एफआईआर दर्ज कराने के लिए ग़ौसे आज़म फाउंडेशन का प्रतिनिधि मंडल सबसे पहले शास्त्री नगर स्थित थाना भट्टा बस्ती गया था। थानाधिकारी हुक्म सिंह जी ने कहा कि यह बहुत ही गंभीर मामला है। आप पुलिस उपायुक्त उत्तर, माननीय पारिस देशमुख जी से मिलें। प्रतिनिधि मंडल, जयपुर जिला कलेक्टर परिसर गया और डीसीपी पारिस देशमुख जी से मिला। उन्होंने इसे गंभीरता से लिया और क़ानूनी कार्रवाई करने का आश्वासन दिया।

मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी ने कहा कि पैग़म्बर हज़रत मोहम्मद सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम का अपमान करने वाले लोगों को ग़ौसे आज़म फाउंडेशन किसी भी क़ीमत में न तो पहले बर्दाश्त करता था और न ही भविष्य में कभी बर्दाश्त करेगा। इससे पहले भी धार्मिक भावनाओं को आहत करने वालों पर ग़ौसे आज़म फाउंडेशन क़ानूनी कार्रवाई कर चुका है।

मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी ने क़ौम से कहा है कि अल्लामा इक़बाल ने कहा था कि रस्मे शब्बीरी अदा करने के लिए ख़ानक़ाहों से निकलो। हालात को देखते हूए रस्मे शब्बीरी अदा करने के लिए अब सिर्फ़ ख़ानक़ाहों से ही नहीं बल्कि मस्जिदों/ मदरसों/ दरगाहों/ हुजरों/ मकानों/ दुकानों आदि से निकलने का वक़्त आ चुका है। गोश्त/ रोटी/ बिरयानी वग़ैरह खाकर गहरी नींद सोने और एक चुप, हज़ार सुख को ही सब कुछ समझने से काम नहीं चलने वाला है। देश में फिर से अमन शांति के लिए वही काम करना पड़ेगा, जो हमारे सूफ़ियों/ ग़ाज़ियों/ मुजाहिदों और शहीदों ने किया था।

ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के हवा महल विधान सभा क्षेत्र के अध्यक्ष व रजिस्टर्ड क़ाज़ी, माननीय मौलाना अब्दुल हमीद नूरी अज़हरी ने कहा कि देश में कुछ लोग आपसी भाईचारा को समाप्त करने के लिए तरह तरह के हथकंडे अपना रहे हैं जो देशहित में बिल्कुल भी ठीक नहीं है। ग़ौसे आज़म फाउंडेशन ऐसे लोगों को छोड़ने वाला नहीं है क्योंकि इसका उद्देश्य ही है देश में प्यार की गंगा बहाना और नफ़रतों की दीवारों को गिराना।प्रतिनिधि मंडल में नौशाद अली, मोहम्मद इरफ़ान, मोहम्मद सद्दाम, मोहम्मद दानिश, मोहम्मद दिलकश, मोहम्मद आर्यन, मोहम्मद जावेद, मोहम्मद इमरान, मोहम्मद शाहिद आदि मौजूद थे।

Check Also

सभी समस्याओं का समाधान यहां हैः मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी

*सभी समस्याओं का समाधान यहां हैः मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी* *अपने परिवार, रिश्तेदार, दोस्त …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *