Breaking News

ईद मीलादुन्नबी पर ग़ौसे आज़म फाउंडेशन ने लगाया विशाल निःशुल्क चिकित्सा शिविर

अल्लाह ने अगर आपको माल व दौलत से नवाज़ा है तो अल्लाह के महबूब हज़रत मोहम्मद सल्लल्लाहो अलैहे वसल्लम के नाम पर अपने माल व दौलत को ख़ूब लुटाना चाहिए

मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी

जयपुर । ग़ौसे आज़म फाउंडेशन ने ईद मीलादुन्नबी (हज़रत मोहम्मद सल्लल्लाहो अलैहे व सल्लम के जन्मदिन) के मुबारक मौक़े पर पंजीकृत कार्यालय श्री रामपुरी कॉलोनी, झोटवाड़ा में विशाल निःशुल्क चिकित्सा शिविर लगाया, जिसमें बड़ी संख्या में ग़रीबों, असहाय और ज़रूरतमंदों को निःशुल्क दवाईयां बांटा।

ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के विशाल निःशुल्क चिकित्सा शिविर में मुख्य अतिथि के तौर पर शेरे बंगाल की उपाधी पाने वाले, डॉक्टर एम गोस्वामी ने भाग लिया। मरीज़ों को मुफ़्त में परामर्श दिया और बीमारी के अनूसार दवाईयां लिखकर दिया। मरीज़ों को शिविर में बैठे कम्पाउंड़र ने दवाईयां दिया।
डॉक्टर एम गोस्वामी ने कहा कि ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी जी का समाज और देश की सेवा करने का जज़्बा मैं पिछले कई सालों से लगातार देख रहा हूं। ऐसे जज़्बा बहुत ही कम लोगों में देखने को मिलता है। मैं बंगाल से दो दिन पहले ही जयपुर आ गया था। मैंने अपने सर की आंखों से देखा कि माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष बहुत दिल खोलकर समाज व देश की सेवा करते हैं।

ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के विशाल निःशुल्क चिकित्सा शिविर में अजमेर के डॉक्टर जय राम शर्मा ने अपनी सेवाएं देते हूए कहा कि ग़ौसे आज़म फाउंडेशन का निःशुल्क चिकित्सा शिविर में हर काम बहुत ही शानदार तरीक़े से हुआ। सुबह में मरीज़ों का ज़ोर थोड़ा कम था लेकिन दोपहर बाद मरीज़ों की संख्या में बढ़ोतरी होती चली गई और सभी मरीज़ो को दवाईयां बांटी गई।

ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के विशाल निःशुल्क चिकित्सा शिविर में जयपुर के डॉक्टर मोहम्मद रिज़वान खान ने भी अपनी सेवाओं से मरीज़ों को फायदा पहूंचाया और कहा कि ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के सभी काम को मैं भी बराबर मीडिया और सोशल मीडिया पर देखता रहता हूं। फाउंडेशन बहुत ही सराहनीय काम करता है।

विशाल निःशुल्क चिकित्सा शिविर लगाने वाले ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी ने कहा कि अल्लाह ने अगर आपको माल व दौलत से नवाज़ा है तो अल्लाह के महबूब हज़रत मोहम्मद सल्लल्लाहो अलैहे वसल्लम के नाम पर अपने माल व दौलत को ख़ूब लुटाना चाहिए। ख़ासकर ईद मीलादुन्नबी के मुबारक मौक़े पर तो किसी क़िस्म की कंजूसी नहीं करनी चाहिए क्योंकि हमारे पास ईमान से लेकर जो कुछ भी है, सब हज़रत मोहम्मद सल्लल्लाहो अलैहे वसल्लम के सदक़े से है।
मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी ने कहा कि कुछ लोग अपनी औलाद की पैदाइश पर तो ख़ुशियां मनाते रहते हैं लेकिन जैसे ही हज़रत मोहम्मद सल्लल्लाहो अलैहे वसल्लम की यौमे पैदाइश का मुबारक दिन आता है, वैसे ही यह कोयले की तरह जल जाते हैं और शिर्क व बिदअत का फ़तवा लगाने लगते हैं।

ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के विशाल निःशुल्क चिकित्सा शिविर को कामयाब बनाने में ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के डायरेक्टर मोहम्मद ख़ालिद सैफुल्लाह, राष्ट्रीय महासचिव मोहम्मद ओसामा सैफुल्लाह, पानीपेच अध्यक्ष अबदुल रफ़ीक़, कलाकार बस्ती अध्यक्ष मोहम्मद आज़ाद, मोहम्मद जुनैद, मोहम्मद आसिफ़, मोहम्मद ज़ीशान, ग़ौसे आज़म फाउंडेशन की चीफ़ ट्रस्टी श्रीमती सबीहा सैफुल्लाह, महिला प्रकोष्ट की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती हिना कौसर आदि ने बहुत मेहनत किया।

Check Also

सभी समस्याओं का समाधान यहां हैः मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी

*सभी समस्याओं का समाधान यहां हैः मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी* *अपने परिवार, रिश्तेदार, दोस्त …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *