Breaking News

जयपुर: चार मस्जिद के इमामों को ग़ौसे आज़म फाउंडेशन ने रजिस्टर्ड क़ाज़ी नियुक्त किया

जयपुर । झोटवाड़ा स्थित सरकार द्वारा मानयता प्राप्त, ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के रजिस्टर्ड हेड़ ऑफिस में चार मस्जिदों के इमामों को ग़ौसे आज़म फाउंडेशन ने रजिस्टर्ड क़ाज़ी नियुक्त किया। इनमें से आइशा मस्जिद के इमाम, हज़रत मौलाना अमानुर्रहमान रज़वी को शास्त्री नगर, करीम मनहार वाली मस्जिद के इमाम, हज़रत मौलाना मोहम्मद अनसार रज़ा अशरफ़ी को सांगानेर, रज़ा मस्जिद के इमाम, हज़रत मौलाना मोहम्मद अयाज़ अहमद रज़वी को पानी पेच और सीतापुरा दरगाह मस्जिद के इमाम, हज़रत मौलाना मोहम्मद उसमान रज़ा ज़ियाई को सीतापुरा का रजिस्टर्ड क़ाज़ी नियुक्त किया गया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मालेगांव, महाराष्ट्र के रूहानी आमिल, हज़रत मौलाना महमूदुल हसन क़ादरी, रज़वी के मुबारक हाथों से, हक़ है अल्लाह, सच है वल्लाह, के पुरज़ोर नारों के बीच, चारों को रजिस्टर्ड क़ाज़ी का नियुक्ति पत्र दिया गया और इन सभी क़ाज़ियों का फूल मालाओं से ज़ोरदार सम्मान और स्वागत किया गया।

इस अवसर पर ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के सरपरस्त, हज़रत मौलाना महमूदुल हसन क़ादरी, रज़वी ने कहा कि फाउंडेशन के बहुत से उद्देष हैं, जिसे लगातार किया जा रहा है। उन ही उद्देष में से देश के हर क्षेत्र में क़ाज़ी व नायब क़ाज़ी बनाना भी है। जिसे आज से बाज़ाब्ता शुरू कर दिया गया है। मौलाना क़ादरी ने कहा कि हज़रत मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी, चिश्ती, क़ादरी को मैं कई सालों से जानता हूं। यह अपनी बात बहुत ही बेबाकी से रखते हैं और जो भी काम करते हैं, डंके की चोट पर करते हैं। आम तौर से लोग अपने फायदे की बातें किया करते हैं लेकिन मैं जब भी इनसे बातें करता हूँ तो यह हमेशा क़ौम, समाज और देश की भलाई के बारे में ही बातें किया करते हैं। हज़रत मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी, चिश्ती, क़ादरी जैसे लोगों से ही क़ौम, समाज और देश का भला होता है।

क़ाज़ी नियुक्त होने पर आइशा मस्जिद के इमाम हज़रत मौलाना अमानुर्रहमान रज़वी, करीम मनहार वाली मस्जिद के इमाम हज़रत मौलाना मोहम्मद अनसार रज़ा अशरफ़ी, रज़ा मस्जिद के इमाम हज़रत मौलाना मोहम्मद अयाज़ अहमद रज़वी और सीतापुरा दरगाह मस्जिद के इमाम हज़रत मौलाना मोहम्मद उसमान रज़ा ज़ियाई ने ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष हज़रत मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी, चिश्ती, क़ादरी और फाउंडेशन के सभी सदस्यों व सहयोगियों का शुक्रिया अदा किया और शपथ-पत्र के अनूसार ही सुन्नी सहीहुल अक़ीदा मुसलमानों का निकाह पढ़ाने का भरोसा दिलाया।

इस इतिहासिक मौक़े पर ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के डायरेक्टर मोहम्मद ख़ालिद सैफुल्लाह, जयपुर शहर अध्यक्ष सुलेमान अली सुलेमानी, लंकापुरी अध्यक्ष मोहम्मद रेहान रज़ा, पानी पेच अध्यक्ष अबदुल रफ़ीक़, राष्ट्रीय महासचिव मोहम्मद ओसामा सैफुल्लाह, कलाकार बस्ती अध्यक्ष मोहम्मद आज़ाद, नेहरू नगर अध्यक्ष सिराजुद्दीन ख़ान, चीफ़ ट्रस्टी सबीहा सैफुल्लाह, महिला प्रकोष्ठ की राष्ट्रीय अध्यक्ष हिना कौसर, मोहम्मद वसीम, मोहम्मद साहिल और रज़ा मस्जिद के सदर अबदुल वहीद (मुन्ना भाई) आदि मौजूद थे।

Check Also

सभी समस्याओं का समाधान यहां हैः मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी

*सभी समस्याओं का समाधान यहां हैः मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह ख़ां अस्दक़ी* *अपने परिवार, रिश्तेदार, दोस्त …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *